CTET Exam New Rule: CTET परीक्षा को लेकर नए नियम जारी हुए, कई परीक्षार्थी होंगे परीक्षा से बाहर

 


Center Teacher Eligibility Test (CTET) के लिए विभाग की ओर से फिलहाल ही में नए नियम जारी किए गए हैं यानी ऐसे अभ्यर्थी जो इस परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं उनके लिए विभाग की ओर से जारी किए गए कुछ निश्चित नियमों का पालन करना होगा यदि आप सीटेट की परीक्षा देने जा रहे हैं, तो आपको सीटेट द्वारा जारी किए गए नियमों को ध्यान से पढ़ना चाहिए जारी किए गए इन नियमों में बताया गया है कि परीक्षा के समय आपको किस समय उपस्थित होना है, आपका एडमिट कार्ड कब डाउनलोड कर सकते हैं, और बुकलेट कैसे भरनी है।

सीटेट परीक्षा के लिए जारी किए गए नियमों के तहत यह सब बताया गया है कि अभ्यर्थी को परीक्षा में उपस्थित होने के लिए कौन-कौन सी चीजें लेकर आनी चाहिए और किन चीजों को लेकर पाबंदी लगाई गई है इसीलिए आपको विभाग की ओर से जारी किए गए इन सभी नियमों को जानने के बाद आपको परीक्षा में समय पर उपस्थित होना चाहिए ताकि किसी भी परेशानी से बचा जा सके।

 CTET EXAM के नए नियम: कई परीक्षार्थी होंगे परीक्षा से बाहर

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटेट) के नए नियम जारी कर दिए गए हैं, जिसके परिणामस्वरूप कई परीक्षार्थी परीक्षा से बाहर हो सकते हैं। शिक्षा मंत्रालय द्वारा जारी किए गए इन नए नियमों का उद्देश्य परीक्षा प्रणाली को और भी अधिक पारदर्शी और निष्पक्ष बनाना है।

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटेट) के नए नियम जारी कर दिए गए हैं, जिसके परिणामस्वरूप कई परीक्षार्थी परीक्षा से बाहर हो सकते हैं। शिक्षा मंत्रालय द्वारा जारी किए गए इन नए नियमों का उद्देश्य परीक्षा प्रणाली को और भी अधिक पारदर्शी और निष्पक्ष बनाना है।

योग्यता मानदंड में परिवर्तन

नए नियमों के अनुसार, सीटेट परीक्षा में बैठने के लिए योग्यता मानदंड को और भी कठोर बना दिया गया है। अब उम्मीदवारों को न्यूनतम 50% अंक प्राप्त करने होंगे, जबकि पिछली बार यह सीमा 45% थी। इससे उन उम्मीदवारों पर प्रभाव पड़ेगा जो अब तक कम अंकों के बावजूद परीक्षा में बैठ सकते थे।

दस्तावेज़ सत्यापन में सख्ती

परीक्षा के लिए आवेदन प्रक्रिया में दस्तावेज़ सत्यापन को भी और अधिक सख्त कर दिया गया है। उम्मीदवारों को अब अपने सभी शैक्षणिक प्रमाण पत्रों की सत्यापित प्रतियां प्रस्तुत करनी होंगी। अगर कोई भी दस्तावेज़ असत्य पाया जाता है, तो उम्मीदवार को परीक्षा से अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा।

परीक्षा केंद्रों में बदलाव

इस बार परीक्षा केंद्रों को भी पुनः निर्धारित किया गया है। उम्मीदवारों को उनके नजदीकी परीक्षा केंद्रों पर ही परीक्षा देने की अनुमति होगी, जिससे परीक्षा केंद्रों पर भीड़ को नियंत्रित किया जा सके। परीक्षा केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन अनिवार्य होगा।

समय सारणी में परिवर्तन

परीक्षा की समय सारणी में भी महत्वपूर्ण बदलाव किए गए हैं। अब परीक्षा दो सत्रों में आयोजित की जाएगी – पहला सत्र सुबह 9 बजे से 12 बजे तक और दूसरा सत्र दोपहर 2 बजे से 5 बजे तक। इससे उम्मीदवारों को अपनी तैयारी के लिए और अधिक समय मिलेगा।

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

इस बार ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया को और भी सरल और सुरक्षित बना दिया गया है। उम्मीदवारों को अपने आवेदन पत्र ऑनलाइन जमा करने के साथ-साथ आवेदन शुल्क भी ऑनलाइन भुगतान करना होगा। इससे आवेदन प्रक्रिया में पारदर्शिता बढ़ेगी।

रिजल्ट की घोषणा

रिजल्ट की घोषणा के समय में भी बदलाव किया गया है। अब रिजल्ट परीक्षा के 15 दिनों के भीतर घोषित कर दिया जाएगा। इससे उम्मीदवारों को समय पर अपनी योग्यता जानने का अवसर मिलेगा और वे आगे की योजना बना सकेंगे।

पुनर्मूल्यांकन की सुविधा

उम्मीदवारों को उनके उत्तर पुस्तिकाओं का पुनर्मूल्यांकन कराने की भी सुविधा दी गई है। इसके लिए उन्हें एक निश्चित शुल्क का भुगतान करना होगा। यह कदम उम्मीदवारों की शिकायतों को कम करेगा और उन्हें निष्पक्षता का अहसास कराएगा।

उत्तर कुंजी का प्रकाशन

परीक्षा के बाद उत्तर कुंजी को भी सार्वजनिक किया जाएगा। उम्मीदवार उत्तर कुंजी के माध्यम से अपने उत्तरों की जांच कर सकेंगे और यदि किसी उत्तर में त्रुटि पाई जाती है, तो वे इसकी शिकायत कर सकेंगे।

निगरानी प्रणाली में सुधार

परीक्षा केंद्रों पर निगरानी प्रणाली को भी और मजबूत किया गया है। सभी केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे और सभी गतिविधियों की निगरानी की जाएगी। इससे नकल और अन्य अनियमितताओं को रोका जा सकेगा।

पेपर लीक की रोकथाम

पिछले कुछ वर्षों में पेपर लीक की घटनाओं को देखते हुए इस बार विशेष सुरक्षा उपाय किए गए हैं। प्रश्नपत्रों को सुरक्षित रखने के लिए कड़ी निगरानी और सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। इसके अलावा, प्रश्नपत्रों को परीक्षा केंद्रों तक पहुंचाने में भी विशेष सतर्कता बरती जाएगी।

उम्मीदवारों के लिए दिशा-निर्देश

उम्मीदवारों को परीक्षा के दौरान पालन करने के लिए सख्त दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। सभी उम्मीदवारों को अपने साथ प्रवेश पत्र और एक पहचान पत्र लाना अनिवार्य होगा। किसी भी प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस परीक्षा केंद्र में लाने की अनुमति नहीं होगी।

विशेष व्यवस्था

विशेष आवश्यकता वाले उम्मीदवारों के लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी। ऐसे उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्रों पर अतिरिक्त समय और सुविधाएं प्रदान की जाएंगी, ताकि वे भी समान अवसरों के साथ परीक्षा दे सकें। 

इन नए नियमों के साथ, शिक्षा मंत्रालय का उद्देश्य परीक्षा प्रणाली को और अधिक पारदर्शी और निष्पक्ष बनाना है, ताकि योग्य उम्मीदवार ही शिक्षक बनने की दिशा में आगे बढ़ सकें।।

Previous Post Next Post

फास्टर अप्डेट्स के लिए जुड़िये हमारे टेलीग्राम चैनल से - यहाँ क्लिक करिये
CLOSE ADVERTISEMENT